कामोत्तेजित कहानी

सामूहिक चुदाई का परम आनंद

शिल्पी शुक्ला दोस्तो, मेरी पिछली कहानी पहला सामूहिक चोदन-आनन्द बिंदास पर प्रकाशित होने के बाद मैं बहुत व्यस्त रही, आपके बहुत मेल आये किन्तु सबका जवाब भी न दे सकी, क्षमा कीजियेगा। आप सब पाठकों के सस्नेह-आग्रह से मैं विवश हो गई और समय निकाल कर आगे की घटना लिख रही हूँ। आपने पिछली कहानी में पढ़ा कि कैसे जीवन में पहली बार हमने सामूहिक रूप से संसर्ग सुख प्राप्त किया और दूध के गिलास से अदला-बदली की शुरूआत हुई। दोनों दम्पति अपने-अपने बिस्तर पर आराम कर रहे थे किन्तु किसी को भी नींद नहीं आ रही थी। मैंने गौ... >>>