फिर चोदी बुर

हेलो दोस्तों, मैं आपका बन्नी फिर से हाज़िर हु एक नयी और सच्ची कहानी लेकर, जो अभी कुछ दिन पहले की है. मैंने अपनी पहली स्टोरी में बताया था, कि कैसे मेरी भाभी ने मुझे जिगोलो बना दिया था. ये स्टोरी पड़ने के बाद, मुझे काफी मेल्स आये. उन सब के लिए आपका बहुत – बहुत थैंक्स. मैंने आप सब को दिल से थैंक्स बोलना चाहता हु. दोस्तों, ये सभी लडको के लिए है. जो मुझे उनको अपने साथ साथ रखने के लिए मेल करते है. मैं कोई एक्स्कोर्ट एजेंसी नहीं चलाता हु, जो आपको अपने साथ रख लू और ना ही मैं अपने क्लाइंट की डिटेल्स किसी के साथ शेयर करता हु. प्लीज इन सब चीजों के लिए मुझे मेल ना करे. आप इस तरह से अपना और मेरा कीमती वक्त बर्बाद कर रहे है. अब मैं इन बातो को बंद करते हुए, सीधा स्टोरी पर आता हु.

ये स्टोरी की क्वीन ट्विंकल (नाम चेंज) है. जो कि सूरत की रहने वाली है. उनको मेरी कहानी बहुत पसंद आई और उन्होंने मेरी सर्विसेज लेने के लिए मुझको मेल किया और मेरी सर्विसेज का चार्ज पूछा? मैंने उसको रिप्लाई में चार्जेज बता दिए और उनकी डेटल पूछी. उन्होंने बताया, कि वो ३० साल की है और उनकी शादी को ६ साल हो चुके है. उन्हें अपने पति से जो सुख चाहिए, तो उन्हें अपने पति से नहीं मिलता है. वो बस अपने बिज़नस में बीजी रहते है. वो सुबह जाते हेयर रात को १० बजे के बाद ही वापस आते है. घर आने के बाद, उनकी हालत कुछ खास अच्छी नहीं होती है, कि वो कुछ ज्यादा देर तक कर पाए. उन्होंने अपने पति के अलावा किसी और के साथ से नहीं किया था. पर वो अब सेक्स करना चाहती है और अपना अकेलापन दूर करना चाहती है. एक ऐसा इंसान को अपना दोस्त बनाना चाहती थी, जो उसने कोई मतलब ना रखे, बस जब मन करे तो उनकी प्यास बुझा दे और इसलिए उन्होंने मुझे मेल लिखी थी. सब बात होने के बाद, उन्होंने मेरी पिक मांगी और फिर हमने फ़ोन नंबर एक्सचेंज कर लिए और मैंने व्हाट्स अप्प उनकी पिक्चर मांगी, तो उन्होंने अपनी पिक्चर भेज दी. वो कोई हूर की परी तो नहीं थी, लेकिन दिखने में अच्छी थी.

वैसे ही ब्यूटी लाइज इन दा आईज ऑफ़ बिहोल्डर. हर लड़की की ये ही तमन्ना रहती है, कि शादी के बाद उसका पति उससे बहुत प्यार करे और उसकी तारीफ़ करे. पर शादी के कुछ साल बाद, अगर वो प्यार ना मिले.. जैसा कि उसको सालो से तमन्ना थी, तो दिल बहुत अकेलापन महसूस करता है. एक औरत ये सब किसी को बता भी तो नहीं सकती, बस ऐसे ही कुछ हाल ट्विंकल के भी थे. और अब वो बंधन में भी खुश रहने का ये ही तरीका समझा. उन्होंने मुझे बोला, कि मैं कभी मेसेज ना करू और जब वो मेसेज करे, तभी मेसेज करू. २ – ३ दिन बात की और फिर उन्होंने मुझे रात को मेसेज किया, कि कल वो मुझसे चुदवाना चाहती है. उन्होंने कहा, कि वो उनके पति के शॉप पर जाने के बाद मुझे मेसेज करेंगी और फिर एड्रेस बता देंगी. फिर उनका अगली सुबह ११:३० बजे मेसेज आया और उन्होंने मुझे अपना एड्रेस दिया और उनकी सोसाइटी के पास आने को कहा. जब मैं वहां पंहुचा, तो वो पहले से वहीँ खड़ी थी.. प्रिंटेड साड़ी पहने हुए और उनका गोरा बदन कमाल लग रहा था.

फिर उन्होंने मुझे कहा – ऑटो करने को. मैंने कहा – क्यों? उसने कहा – मेरी सोसाइटी में ऑटो से चलेंगे, तो किसी को शक नहीं होगा. और अगर रिसेप्शन पर अगर वॉचमैन पूछेगा, तो मैं बोल दूंगी, कि मेरे साथ ही है. तो कोई प्रॉब्लम नहीं होगी. तो हम ऑटो करके उनकी सोसाइटी में पहुच गए और उनके घर भी. उनका घर अच्छा था और उन्होंने मुझे सोफे पर बैठने को बोला. और खुद किचन में जाकर कोल्डड्रिंक ले आई. वो मेरे बगल में ही बैठ गयी और मैंने बोला – आप तो बहुत सुंदर हो. उन्होंने कहा – थैंक्स. और मुझसे कहा – आज पता नहीं कितने सालो के बाद, अपनी तारीफ़ सुन रही हु. मुझे अच्छा लग रहा है और मैंने कहा – आज आपको मैं वो सुख दूंगा, जो आपको सालो से नहीं मिला और आप उसको पाने के लिए तड़प रही हो. तो उन्होंने कहा, कि कभी हमारी बात लीक तो नहीं होगी? मैंने उनका हाथ पकड़ कर कहा – मेरा काम सिर्फ सुख देना है, किसी का सुख छिनना नहीं है. उन्होंने मुझे अपने गले से लगा लिया. मैंने उनकी नैक के पास किस करते हुए, उनकी पीठ को मसलना शुरू कर दिया.

फिर मैं उनके कानो के पास किस करते हुए नीचे आने लगा, तो वो मचलने लगी और उनके मुह से सिसकारी निकलने लगी. फिर मैंने उनको चुमते हुए गालो से होठो तक आया और बस लिप्स का एक हिस्सा ही चुसना शुरू कर दिया. उनके रसीले होठो का मीठा स्वाद बहुत मस्त था. एक तरफ तो मैं उनके रसीले होठो को चूस रहा था और दूसरी तरफ मेरा हाथ उसके बूब्स को मसल रहा था. उनका फिगर ३४ २८ ३६ का था. फिर ऐसे ही १५ मिनट तक करने के बाद, उन्होंने कहा – चलो बन्नी रूम में चलते है और मैं उनके पीछे उनके रूम में चल दिया. जैसे ही हम रूम में पहुचे, मैंने उनकी साड़ी पकड़ ली और उन्होंने मुझे देखा, तो मैंने कहा – उतार दो इसे और पलभर में वो सिर्फ पेटीकोट – ब्लाउज में थी. उन्हें थोड़ी शरम भी आ रही थी, उनके लिए ये सब पहली बार हो रहा था. वो अपने पति के अलावा किसी गैर मर्द के सामने साड़ी से अलग नहीं हुई थी. मैंने अपने को उसने चिपटा लिया और उनको चुमते – चुमते हम बेड पर गिर गये और वो बस मुझमे खोई हुई थी.

मुझे मज़ा आ रहा था. मैं आप को बता दू, कि सेक्स का मज़ा ही तब आता है, जब सेक्स की आग दोनों तरफ बराबर लगी ही और सेक्स की तड़प दोनों तरफ बराबर हो. मैं अपने क्लाइंट को हमेशा ही ये फील करवाता हु, कि वो मेरे किये कितने इम्पोर्टेन्ट है और जितनी सेक्स की हवस उनके अन्दर है, उतनी ही सेक्स की हवस मेरे अन्दर भी है. अब मैं उनकी नैक पर, गालो पर किस कर रहा था और उनके बूब्स को मसल रहा था. वो तो बस आँखे बंद किये हुए मज़े ले रही थी सुख को महसूस कर रही थी. फिर मैंने उनकी ब्लाउज के बटन एक – एक करके खोल दिए और उनका ब्लाउज उतार दिया. उन्होंने सफ़ेद रंग की ब्रा पहनी थी और मैंने वो भी उतार दी. फिर मैंने अपने मुह को उनके बूब्स पर रख दिया और उनको चूसने लगा. मैं ऊपर जीभ फेर रहा था और वो बस मेरे बालो से खेलते हुए, मेरे शरीर से अपने बूब्स को दबा रही थी. मैंने अब उनके पेतोकोट का नाडा खोल दिया और वो भी उतार दिया और उनकी पिंक कलर की पेंटी पूरी की पूरी रस से भीग चुकी थी. मैंने उनके बूब्स को चूसते हुए, अपना हाथ उनकी पेंटी में डाल दिया और उनके दाने को मसलने लगा.

वो छटपटा रही थी. मैंने उनके पेट के नेवल को किस करते हुए नीचे आया और उनकी पेंटी को भी निकाल दिया और उनकी जांघो को किस करने लगा. मैंने अपनी जीभ उनकी चूत पर रखी और उनको चाटने लगा. २ मिनट चूत चाटने के बाद, वो झड़ गयी और कहने लगी, बन्नी आज सच में बहुत मज़ा आया. अब तुम जल्दी से मुझे चोद दो.. मुझे डर लग रहा है, कि कोई आ ना जाए. इसलिए मैं अब तुमसे जल्दी ही चुदना चाहती हु. प्लीज तुम जल्दी से चुदाई चालू करो. मैं तुम्हे फिर कभी और भी बुला लुंगी, जब भी मुझे मौका मिलेगा. तब तुम बहुत आराम से मेरी चुदाई करना. अब तो प्लीज जल्दी से कर दो मेरी चुदाई. मुझे चोदो अब. मैंने अपने कपड़े उतारे और उनकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया और अपने लंड उनकी चूत पर रख कर रगड़ने लगा. उनके मुह से कामुक सिस्कारिया निकलने लगी थी अहहाह अहहाह अहः ओअओअओअ आओअओअ… फिर मैंने अपने लंड को रगड़ते हुए, अपने लंड को उनकी चूत में धक्का मार कर घुसा दिया और मेरे लंड के अन्दर जाते ही, उनके मुह से चीख निकली और मैंने चीख को दबाने के लिए, मैंने अपने होठो को उनके होठो पर रख लिया और उनकी चीख उनके गले में ही दब गयी. मैंने उनकी जबरदस्त चुदाई की कोई २० मिनट तक और तब तक वो २ बार झड़ चुकी थी.

फिर हमने १० मिनट आराम किया और कपड़े पहने और उन्होंने मुझे थैंक्स बोलते हुए, मुझे किस किया और फिर मेरी फीस दे दी. उन्होंने बोला – सॉरी, आज तुम्हे मैं ज्यादा टाइम नहीं दे पायी. लेकिन मैं बता नहीं सकती, कि आज तुमने मुझे कितना मज़ा दिया है और मेरी सालो से अन्दर धधक रही हवस की आग पर पानी डाला है. लेकिन, मैं तुम्हे जल्दी से दुबारा बुलायुंगी, ताकि तुम्हारे साथ कुछ ज्यादा वक्त गुजार सकू और अपनी चूत को ढंग से चुदवा कर अपने आप को वो सुख दे सकू, जो मैं हमेशा से चाहती थी. तो दोस्तों, मुझे आप बताना कि मेरी कहानी आपको कैसी लगी और अगर किसी को मेरी सर्विस की जरूरत हो, तो मुझे जरुर बताना..